img

CET (Common Eligibility Test/सामान्‍य योग्‍यता परीक्षा)


हाल ही में PM मोदी ने 19 अगस्‍त 2020 को नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) के गठन को मंजूरी दी।नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का काम SSC, IBPS, RRB (रेल मंत्रालय), वित्‍त मंत्रालय/ वित्‍तीय सेवा विभाग के लिए सामान्‍य योग्‍यता परीक्षा (CET – Common Eligibility Test) लेना होगा।

इसका सीधा  सा अर्थ है कि अब तक  SSC, IBPS, RRB जो पहले चरण का एग्‍जाम लेती थी, जिसका मुख्‍य मकसद आवेदकों की संख्‍या को कम करना होता था, वह एग्‍जाम भविष्‍य में NRA लेगी।इसके बाद जो मुख्‍य परीक्षा होगी, वह SSC, IBPS और RRB लेंगी।

CET के स्‍कोर के आधार पर तय होगा कि आप SSC, IBPS, RRB और फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के ग्रुप C और D (नॉन टेक्निकल) पदों के लिए अप्‍लाई करने योग्‍य हैं या नहीं।


– केंद्र सरकार की भर्ती के लिए करीब 20 रिक्रूटमेंट एजेंसियां हैं। अब इन सबके लिए एक ही कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्‍ट होगा।

– सरकारी परीक्षाओं के लिए औसतन इन परीक्षाओं में ढ़ाई से तीन करोड़ युवा शामिल होते हैं। हर एग्‍जाम के लिए अलग-अलग तैयारी करनी पड़ती है, इनमें से ज्‍यादातर पहली परीक्षा में ही छंट जाते हैं। ऐसे में बड़ी रकम खर्च हो जाती है।तो अब एक ही कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्‍ट और इसके लिए फीस देना होगा।

देशभर में एग्‍जाम सेंटर बनेंगे?

– देश में 739 जिले हैं। इनमें से 117 जिलों में एग्‍जाम सेंटर बनेंगे।यह एग्‍जाम सेंटर नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का ही होगा।

– साल में दो बार एग्जाम होगा , कोई भी कैंडीडेट चाहे जितनी बार एग्‍जाम दे सकता है,कोई लिमिट नहीं होगी।

– इस टेस्‍ट का स्‍कोर तीन साल के लिए मान्‍य होगा।

– अगर कई बार एग्‍जाम दिया गया है, तो सर्वोच्‍च अंक उम्‍मीदवार का वर्तमान अंक माना जाएगा।

तीन तरह के एग्‍जाम : ग्रेजुएट, 12वीं और 10वीं पास वालों के लिए अलग-अलग एग्‍जाम होंगे।

केंद्रीय मंत्रीमंडल ने  तीन साल में नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) के लिए 1517.57 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की है।यह टेस्‍ट शुरू होगा इसके बारे में नहीं बताया गया है।



ADD COMMENT

Current Affairs
Test
Classes
E-Book