1.

हाल ही में किस राज्य के तंदूर रेडग्राम और लद्दाख की खुबानी को जीआई टैग मिला -

Answer:Option 2

Explanation:

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर 13 दिसंबर को जीआई का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट शेयर किया था, जिसमें असम से गमोचा, तेलंगाना से तंदूर रेडग्राम और लद्दाख से खुबानी की एक वैरायटी को सरकार से जियोग्राफिकल इंडिकेशन (जीआई) का टैग मिला है। मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने 14 दिसंबर को बताया कि जीआई का टैग हासिल वस्तुओं की संख्या 432 हो गई है।
मंत्रालय ने कहा कि असम के प्रसिद्ध गमोचा, तेलंगाना के तंदूर रेडग्राम, लद्दाख की रक्तसे कारपो खुबानी, महाराष्ट्र के अलीबाग के सफेद प्याज को जीआई का दर्जा दिया गया है। जीआई टैग में कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और केरल टॉप पांच राज्य हैं, जहां की वस्तुओं को सबसे अधिक जीआई टैग मिला है। 

Discuss in forum

2.

हाल ही में किसने निकोबारी होदी शिल्प के लिए भौगोलिक संकेत (GI) टैग के लिए आवेदन किया है -

Answer:Option 1

Explanation:

हाल ही में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह ने आवेदन किया है, जिसमें निकोबारी होदी शिल्प के लिये भौगोलिक संकेत (GI) टैग की मांग की गई है।
निकोबारियों को होदी बनाने के लिये तकनीकी कौशल अपने पूर्वजों से विरासत में मिले स्वदेशी ज्ञान पर आधारित है।
होदी का उपयोग लोगों और सामानों को एक द्वीप से दूसरे द्वीप पर ले जाने, नारियल भेजने, मछली पकड़ने और दौड़ प्रतियोगिता उद्देश्यों के लिये किया जाता है।
होदी एक ओट्रिगर डोंगी है, जो आमतौर पर द्वीपों के निकोबार समूह में संचालित होती है।

Discuss in forum

3.

हाल ही में किस राज्य के मिथिला मखाना को GI टैग दिया गया -

Answer:Option 4

Explanation:

मिथिला मखाना का उत्पादन करने वाले किसानों को अब उनकी उपज का अधिकतम मूल्य मिलेगा।

Discuss in forum

4.

हाल ही में किस भारतीय जीआई उत्पाद को यूरोपीय आयोग द्वारा जीआई टैग मिलेगा -

Answer:Option 4

Explanation:

हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा चाय (Kangra Tea) को जल्द ही एक यूरोपीय आयोग भौगोलिक संकेत टैग (जीआई टैग) मिलेगा; यह टैग कांगड़ा चाय को यूरोपीय बाजार में प्रवेश करने का अवसर प्राप्त करने में मदद करता है। कांगड़ा चाय को 2005 में भारतीय जीआई टैग मिला। 1999 से, हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा क्षेत्र में चाय की खेती और विकास में लगातार सुधार हुआ है।

कांगड़ा चाय के विकास और खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है और चार विभागों iTea बोर्ड ऑफ इंडिया क्षेत्रीय कार्यालय पालमपुर, राज्य के सहकारी और कृषि विभाग और सीएसआईआर, आईएचबीटी पालमपुर और चौधरी सरवन कुमार कृषि विश्वविद्यालय, पालमपुर द्वारा देखा जा रहा है।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी: शिमला (ग्रीष्मकालीन), धर्मशाला (शीतकालीन);
हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल: राजेंद्र अर्लेकर;
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री: जय राम ठाकुर।
 

Discuss in forum

5.

भारत के पहले जीआई-टैग वाले किस कालीन को हरी झंडी दिखाकर जर्मनी रवाना किया गया -

Answer:Option 2

Explanation:

जम्मू और कश्मीर सरकार ने हाथ से बुने हुए कालीनों की प्रामाणिकता और वास्तविकता को बनाए रखने के लिए अपने जीआई-टैग वाले कश्मीरी कालीन के लिए त्वरित प्रतिक्रिया (क्यूआर) कोड शुरू किया है। 
जीआई टैग से जुड़े इस क्यूआर कोड का मुख्य उद्देश्य कश्मीरी कालीन उद्योग की चमक और गौरव को पुनर्जीवित करने में मदद करना है।
क्यूआर कोड में कारीगरों, निर्माता, बुनकर, जिले, प्रयुक्त कच्चे माल आदि की प्रासंगिक जानकारी होगी।
चूंकि क्यूआर कोड लेबल की नकल या दुरुपयोग नहीं किया जा सकता है, यह कालीनों के नकली उत्पादन को हतोत्साहित करेगा।
इस बीच, 11 मार्च, 2022 को नई दिल्ली से जीआई-टैग हाथ से बुने हुए कालीनों की पहली खेप जर्मनी को निर्यात की गई।
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल - मनोज सिन्हा
जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (केंद्र शासित प्रदेश) - 31 अक्टूबर 2019

Discuss in forum

6.

दिसंबर 2021 में, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने बिहार मखाना का नाम बदलने के प्रस्ताव को स्वीकार करके ___ कर लिया और अपने भौगोलिक पहचान (GI) टैग को बनाए रखा -

Answer:Option 2

Explanation:

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत भौगोलिक संकेत रजिस्ट्री (GIR) ने बिहार मखाना का नाम बदलकर मिथिला मखाना करने और इसके भौगोलिक पहचान (GI) टैग को बनाए रखने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया।
इसने अपने मूल को उजागर करने और उत्पाद के भौगोलिक संकेत (GI) अधिकारों की रक्षा के लिए ब्रांड लोगो में संशोधन का भी सुझाव दिया।
सबौर स्थित बिहार कृषि विश्वविद्यालय (BAU) ने मिथिला क्षेत्र में फॉक्स नट उत्पादकों के कल्याण के लिए मिथिलांचल मखाना उत्पादक संघ (MMUS) की ओर से अपनी उपज का नाम मिथिला मखाना रखने के लिए एक आवेदन शुरू किया।

Discuss in forum

7.

सही सुमेलित कीजिए -

1. जुड़िमा                -    A. मणिपुर
2. सोजत मेहंदी       -     B. तमिलनाडु
3. मीठा खीरा           -    C. राजस्थान
4. सिराराखोंग मिर्च   -    D. नागालैंड
5. कन्याकुमारी लौंग  -    E. असम

Answer:Option 2

Explanation:

1. जुड़िमा              -     A. असम
2. सोजत मेहंदी     -     B. राजस्थान
3. मीठा खीरा      -     C. नागालैंड
4. सिराराखोंग मिर्च     -     D. मणिपुर
5. कन्याकुमारी लौंग     -     E. तमिलनाडु

तमिलनाडु में कन्याकुमारी जिले की पहाड़ियों में उगाए जाने वाले अनोखे लौंग के मसाले को 'कन्याकुमारी लौंग (Kanyakumari clove)' के रूप में भौगोलिक संकेत (जीआई) से सम्मानित किया गया है। 

भारत में लौंग का कुल उत्पादन 1,100 मीट्रिक टन है और इसमें से 1,000 मीट्रिक टन हर साल तमिलनाडु में पैदा होता है जबकि 750 मीट्रिक टन लौंग का उत्पादन अकेले कन्याकुमारी जिले में होता है।

इसके अलावा, पारंपरिक डाई-पेंटेड आलंकारिक और पैटर्न वाले कपड़े को करुप्पुर कलमकारी (Karuppur kalamkari) पेंटिंग कहा जाता है और तमिलनाडु से कल्लाकुरिची (Kallakurichi) की लकड़ी की नक्काशी को भी जीआई टैग प्राप्त हुआ है।

तमिलनाडु राजधानी - चेन्नई

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री - एमके स्टालिन

तमिलनाडु के राज्यपाल - आर.एन.रवि

तमिलनाडु राज्य नृत्य - भरतनाट्यम

Discuss in forum

8.

किस राज्य में व्यापक रूप से उत्पादित किए जाने वाले चावल की एक खास किस्म वाडा कोलम को जीआई टैग दिया गया है -

Answer:Option 2

Explanation:

पालघर जिले के वाडा में व्यापक रूप से उगाए जाने वाले चावल की एक किस्म को 'भौगोलिक संकेत' टैग दिया गया है, जो इसे एक विशिष्ट पहचान के साथ-साथ व्यापक बाजार भी देगा। 

वाडा कोलम, जिसे ज़िनी या झिनी चावल के नाम से भी जाना जाता है, पालघर की वाडा तहसील में उगाई जाने वाली एक पारंपरिक किस्म है, जिसका दाना सफेद रंग का होता है।

वाडा कोलम चावल की घरेलू बाजारों में कीमत 60-70 रुपये प्रति किलोग्राम है और विदेशों में भी इसकी अच्छी मांग है। 

वाडा कोलम पालघर में वर्षों से उगाया जाता रहा है। 

यह अपने छोटे दाने, सुगंध, स्वाद और पाचन के लिए हल्का होने के लिए जाना जाता है। 

यह ग्लूटेन मुक्त (gluten-free) होता है। 

हालांकि, यह कम उपज देने वाली फसल है।

Discuss in forum

9.

हाल ही में कहां के प्रसिद्ध सफेद प्याज को भौगोलिक संकेत (जीआई) टैग दिया गया -

Answer:Option 2

Explanation:

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में अलीबाग (Alibag) के प्रसिद्ध सफेद प्याज (white onion) को भौगोलिक संकेत (जीआई) टैग दिया गया, जो इसके अनूठे मीठे स्वाद, बिना आंसू के कारक, साथ ही इसके औषधीय गुणों को दुनिया भर में पहचान दिलाता है।

अलीबाग तालुका की मिट्टी में सल्फर की मात्रा कम है। 

एनएबीएल-अनुमोदित लैब टेस्ट रिपोर्ट में कम तीखापन, मीठा स्वाद, 'नो टियर' फैक्टर, कम पाइरुविक एसिड, उच्च प्रोटीन, वसा और फाइबर आदि का उल्लेख है।

यहां के कृषि विभाग और कोंकण कृषि विश्वविद्यालय ने संयुक्त रूप से 15 जनवरी 2019 को जीआई आवेदन जमा किया था।

इस साल 29 सितंबर को पेटेंट रजिस्ट्रार के मुंबई कार्यालय में प्रस्ताव की जांच की गई और अलीबाग के सफेद प्याज को जीआई टैग देने का फैसला किया गया।

महाराष्ट्र राज्यपाल → भगत सिंह कोश्यारी

महाराष्ट्र राजधानी → मुंबई

महाराष्ट्र सीएम → उद्धव ठाकरे

Discuss in forum

10.

सही सुमेलित कीजिए -
1. जुड़िमा                 →     A. मणिपुर
2. सोजत मेहंदी        →     B. नागालैंड
3. मीठा खीरा           →     C. असम
4. सिराराखोंग मिर्च     →     D. राजस्थान

Answer:Option 4

Explanation:

1. जुड़िमा              →     A. असम
2. सोजत मेहंदी     →     B. राजस्थान
3. मीठा खीरा       →     C. नागालैंड
4. सिराराखोंग मिर्च   →     D. मणिपुर

जुडिमा →

जुडिमा चावल से बना एक स्थानीय किण्वित पेय (fermented drink) है, जिसे असम में दिमासा (Dimasa) समुदाय द्वारा बनाया जाता है।

इसका नाम जु शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ है शराब और दीमा का अर्थ है 'दिमासा से संबंधित (belonging to the Dimasa)'।

यह पूरे पूर्वोत्तर में जीआई टैग पाने वाला पहला पारंपरिक काढ़ा है।

सोजत मेहंदी →

सोजत में उगाई जाने वाली मेहंदी की पत्तियों से निकलने वाली सोजत मेहंदी की खेती प्राकृतिक रूप से वर्षा जल का उपयोग करके की जाती है।

राजस्थान में पाली (Pali) जिले की सोजत तहसील में प्राकृतिक रूप से मेहंदी की फसल उगाने के लिए उपयुक्त भूवैज्ञानिक संरचना, स्थलाकृति और जल निकासी व्यवस्था, जलवायु और मिट्टी है।

Discuss in forum

Page 1 Of 26
Test
Classes
E-Book