1.

निम्न में से किसने एक नए LHS 475b नामक एक्सोप्लैनेट की खोज की - 

Answer:Option 2

Explanation:

नासा ने हाल ही में नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप द्वारा LHS 475b नामक एक नए एक्सोप्लैनेट की खोज की गयी है। 
मोटे तौर पर इसका आकार पृथ्वी के समान है, जिसका व्यास 99% पृथ्वी के समान है।

Discuss in forum

2.

नासा ने किसे अपना नया चीफ टेक्नोलॉजिस्ट नियुक्त किया है -

Answer:Option 1

Explanation:

भारतीय-अमेरिकी एयरोस्पेस उद्योग विशेषज्ञ एसी चरानिया को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का नया मुख्य प्रौद्योगिकीविद् (Chief Technologist) नियुक्त किया गया है। 
एसी चरानिया नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) मुख्यालय में प्रशासक बिल नेल्सन के प्रधान सलाहकार के तौर पर सेवाएं देंगे और प्रौद्योगिकी नीति और कार्यक्रमों पर सलाह देंगे। 
उन्होंने साथी भारतीय-अमेरिकी भव्य लाल का स्थान लिया, जो 3 जनवरी तक कार्यवाहक मुख्य प्रौद्योगिकीविद थीं।

Discuss in forum

3.

हाल ही में किस देश ने परमाणु सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि वी का सफलतापूर्वक परीक्षण किया -

Answer:Option 3

Explanation:

भारत ने जमीन से जमीन पर मार करने की क्षमता वाली परमाणु संपन्न बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफलतापूर्वक किया। इस मिसाइल में तीन स्टेज में संचालित होने वाला सॉलिड फ्यूल इंजन लगाया गया है। अग्नि-5 पांच हजार किलोमीटर तक सटीक मार करने की क्षमता रखती है। ओडिशा के बालासोर तट स्थित अब्दुल कलाम परीक्षण केंद्र पर यह परीक्षण किया गया।
मिसाइल पर लगाई गई नई तकनीकों और उपकरणों के परीक्षण के लिए इसकी टेस्टिंग की गई थी। यह मिसाइल अब पहले से हल्की हो गई है। इतना ही नहीं, जरूरत पड़ने पर अग्नि-5 मिसाइल की रेंज बढ़ाने की क्षमता भी विकसित की गई है। अग्नि श्रृंखला की इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल को डीआरडीओ और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड ने साथ में विकसित किया है।
रिपोर्ट्स के अनुसार, नई अग्नि मिसाइल की मारक क्षमता 5,000 से 8,000 किमी है। अग्नि-5 की ऊंचाई 17 मीटर और व्यास 2 मीटर है। मिसाइल का वजन 50 टन है जोकि 1.5 टन तक नयूक्लियर वॉरहेड ढोने में सक्षम है। अग्नि-5, 24 गुना तेज आवाज की रफ्तार के साथ मुकाबला कर सकती है। ‘अग्नि-5’ अपनी शृंखला में सबसे आधुनिक हथियार है।
 

Discuss in forum

4.

हाल ही में किस देश ने ऐतिहासिक परमाणु संलयन सफलता की घोषणा की है -

Answer:Option 1

Explanation:

अमेरिकी शोधकर्ताओं ने 13 दिसंबर को एक ऐतिहासिक परमाणु संलयन सफलता की घोषणा की जो असीमित, स्वच्छ ऊर्जा के स्रोत और जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता को समाप्त करने की दिशा में एक “ऐतिहासिक उपलब्धि” है। 
परमाणु संलयन में यह सफलता असीमित स्वच्छ ऊर्जा ला सकती है और इससे जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ाई में मदद मिल सकती है।
इतिहास में पहली बार अमेरिका के कैलिफोर्निया में लॉरेंस लिवरमोर नेशनल लेबोरेटरी में नेशनल इग्निशन फैसिलिटी में अमेरिकी वैज्ञानिकों ने परमाणु संलयन अभिक्रिया को अंजाम दिया है, जिसके चलते सूर्य की तरह ही बिल्कुल शुद्ध ऊर्जा (कॉर्बन फ्री एनर्जी) का उत्पादन किया गया। 
परमाणु संलयन क्या है ?
परमाणु संलयन वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा भारी मात्रा में ऊर्जा जारी करते हुए दो हल्के परमाणु नाभिक मिलकर एक भारी परमाणु बनाते हैं। 
यह वह प्रक्रिया है जो सूर्य और अन्य तारों को शक्ति प्रदान करती है। 
यह प्रकाश परमाणुओं के जोड़े लेकर और उन्हें एक साथ मजबूर करके काम करता है और भारी मात्रा में ऊर्जा उत्पन्न करता है।
 

Discuss in forum

5.

चंद्रमा के चारों ओर एक यात्रा के लिए कौन से भारतीय टीवी कलाकार जापानी अरबपति युसाकु मेज़वा के साथ जाएंगे -

Answer:Option 2

Explanation:

जापानी अरबपति युसाकु मेज़वा ने भारतीय टीवी अभिनेता देव जोशी को अगले साल की शुरुआत में एक निजी स्पेसएक्स उड़ान पर चंद्रमा के चारों ओर यात्रा के लिए चुना है। 
देव जोशी को सोनी सब के बाल वीर और बालवीर रिटर्न्स में बाल वीर की भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है।
 युसाकु मेज़वा ने अपनी निजी स्पेसएक्स उड़ान के लिए अमेरिकी डीजे स्टीव अओकी, कोरियाई रैपर टॉप, यूट्यूबर टिम डोड, आयरिश फोटोग्राफर रियानोन एडम, अमेरिकी वृत्तचित्र फिल्म निर्माता ब्रेंडन हॉल, ब्रिटेन के फोटोग्राफर करीम इलिया औरचेक डांसर येमी एडी को भी चुना है।
 

Discuss in forum

6.

किस देश ने अरब निर्मित पहला लूनर स्पेसक्राफ्ट लॉन्च किया है -

Answer:Option 3

Explanation:

11 दिसंबर, 2022 को, एक स्पेसएक्स फाल्कन 9 रॉकेट ने पहली अरब-निर्मित लूनर स्पेसक्राफ्ट ऑर्बिट के लिए लांच किया है। 
इसे फ्लोरिडा के केप कैनावेरल स्पेस फोर्स स्टेशन से लॉन्च किया गया। 
रशीद रोवर का निर्माण संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में दुबई के मोहम्मद बिन राशिद अंतरिक्ष केंद्र (एमबीआरएससी) द्वारा किया गया था और इसे जापानी चंद्र अन्वेषण निगम आईस्पेस के हाकुटो-आर लैंडर द्वारा भेजा गया है।

Discuss in forum

7.

किस अन्तरिक्ष एजेंसी के आर्टेमिस-1 ने पृथ्वी से 4 लाख किलोमीटर दूर पहुंच कर नया रिकॉर्ड बनाया है -

Answer:Option 3

Explanation:

नासा के आर्टेमिस-1 ने नया रिकॉर्ड बनाया है। पृथ्वी से 4 लाख किलोमीटर दूर पहुंच कर इतिहास बनाया है। 
अपोलो 13 को पछाड़ अर्टेमिस-1 मून मिशन का नया हीरो बन गया है। 
पांच दिनों की लंबी यात्रा और अंतरिक्ष में लाखों किलोमीटर का सफर, नासा के आर्टेमिस वन ने इस मुश्किल सफर को आसानी से तय कर लिया और आखिरी अपोलो मिशन के बाद, चांद की सतह में दाखिल होने वाला ये पहला अंतरिक्ष यान बन गया।
नासा के मुताबिक, अर्टेमिस 1 का ओरियन कैप्सूल पृथ्वी से करीब 4 लाख 19 हजार 378 किलोमीटर दूर पहुंच गया है। 
इससे पहले साल 1972 में अपोलो-13 पृथ्वी से 2 लाख 48 हजार 655 मील यानी 4,00,171 किमी दूर पहुंचा था। 
नासा के मुताबिक अर्टेमिस 1 का ओरियन कैप्सूल लगभग 6 दिन तक चांद की कक्षा में चक्कर लगाएगा। जिसके बाद 11 दिसंबर को प्रशांत महासागर में इसकी लैंडिंग होगी।
 

Discuss in forum

8.

वैज्ञानिकों ने किस देश में बर्फ में दबे 48,500 साल पुराने जॉम्बी वायरस को पुनर्जीवित किया है -

Answer:Option 4

Explanation:

फ्रांस के वैज्ञानिकों ने रूस में जमी हुई झील के नीचे दबे 48,500 साल पुराने जॉम्बी वायरस को फिर से जीवित किया है। 
यूरोपीय शोधकर्ताओं ने रूस के साइबेरिया क्षेत्र में पर्माफ्रॉस्ट से एकत्रित प्राचीन नमूनों की जांच की। 
वैज्ञानिकों ने 13 नए रोगजनकों को पुनर्जीवित किया और उनकी विशेषता बताई, जिसे उन्होंने 'ज़ोंबी वायरस' का नाम दिया है।

Discuss in forum

9.

53वें आईएफएफआई में संस्कृत यानम में हाल ही में कौन सी विज्ञान डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई है -

Answer:Option 1

Explanation:

विश्व सिनेमा के इतिहास में पहला विज्ञान-संस्कृत वृत्तचित्र, ‘यनम’, जो भारत के सफल मंगलयान मिशन के इर्द-गिर्द घूमता है, गोवा के पंजिम में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) के 53वें संस्करण में भारतीय पैनोरमा खंड के तहत प्रदर्शित किया गया था। 
20-28 नवंबर 2022 तक पणजी में आयोजित होने वाले 53वें आईएफएफआई का आयोजन नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन और एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा द्वारा किया गया था।
भारत के ऐतिहासिक मार्स ऑर्बिटर मिशन (एमओएम) उर्फ ‘मंगलयान’ को 2013 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया था। 
यह पूर्व इसरो अध्यक्ष पद्म भूषण डॉ. के. राधाकृष्णन की आत्मकथात्मक पुस्तक “माई ओडिसी: मेमोयर्स ऑफ द मैन बिहाइंड द मंगलयान मिशन” पर आधारित है।

Discuss in forum

10.

किस कंपनी ने श्रीहरिकोटा में भारत का पहला निजी रॉकेट लॉन्चपैड विकसित किया है -

Answer:Option 4

Explanation:

स्पेस टेक-स्टार्ट अप अग्निकुल कॉसमॉस ने भारत का पहला लॉन्चपैड स्थापित किया है जिसे श्रीहरिकोटा में एक निजी स्टार्ट अप द्वारा संचालित किया जाएगा। इस सुविधा का उद्घाटन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष एस. सोमनाथ ने किया। इस पैड से अग्निकुल का पहला प्रक्षेपण एक नियंत्रित और निर्देशित मिशन होगा।
 

Discuss in forum

Page 1 Of 26
Test
Classes
E-Book